Skip to main content

शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है?(Why and when do celebrate Martyrs'Day?)

शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है?


क्या आपको पता है,शहीद दिवस क्यों मनाते हैं? क्या आपने कभी सोचा इसके बारे में। अगर नहीं तो इस लेख को पूरा पढ़ें। हम लेख मे जानेंगे कि , शहीद दिवस क्यों और कब मनाया जाता है। चलिए तो अब हम शहीद दिवस के बारे में पूरी जानकारी आपको देते हैं।

शहीद दिवस को अंग्रेजी में  Martyrs' day बोला जाता है

शहीद दिवस हम अपने उन शहीदों को श्रद्धांजलि प्रदान करते हैं जो अपने देश के हिफाजत के लिए अपने जान गवा बैठे हैं, या वह अपने देश के लिए शहीद हो गए। शहीद दिवस के दिन शिक्षा केंद्र जैसे स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय में उस दिन राष्ट्रीय गान बजाया जाता है और 1-2 मिनट तक मौन धारण करके अपने शहीदों को याद करते हैं। देखा जाए तो हमारे शहीद हमारे देश के लिए जो कि वह बेहद काबिले तारीफ है क्योंकि उन्हीं के वजह से हम चैन की नींद सो पाते हैं। इसलिए हम सब भारतीयों के लिए शहीद दिवस बहुत ही महत्वपूर्ण दिन होता है ,और शहीद दिवस को हम सब भारतीय को शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करना चाहिए और उन शहीदों के कुछ गुण को भी अपने अंदर लाना चाहिए।

शहीद दिवस क्या है?(What is Martyrs' day?)


हर साल हम शहीद दिवस में अपने बहादुर शहीदों को सम्मानित करने के लिए मनाते है। क्या आपको पता है कि भारत में शहीद दिवस अलग-अलग दिनों में मनाया जाता है लेकिन मुख्य रूप से दो तिथियां देशभर में अधिक जानी जाती है और मनाई जाती है।
शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है?

15 देश में से भारत एक ऐसा देश है, जो हर साल शहीद दिवस मनाता है। इसका कारण यह है, कि हम अपने शहीद बहादुर नेताओं और सैनिकों को भूल नहीं सकते हैं जिन्होंने ब्रिटिश शासन के खिलाफ आवाज उठाई और हमारे देश को आजाद किए ब्रिटिश के चंगुल से। इसलिए भारत अपने शहीद और बहादुर नेताओं और सैनिकों को श्रद्धांजलि प्रदान करने के लिए शहीद दिवस को मनाता है


शहीद दिवस कब कब मनाते हैं


पहला शहीद दिवस , पूरे भारत में 30 जनवरी  को मनाया जाता है जबकि दूसरे शहीद दिवस 23 मार्च को मनाया जाता है।

दोनों के अलग-अलग कारण है की एक शहीद दिवस 30 जनवरी को और दूसरा 23 मार्च को मनाया जाता है यह तो हम एक-एक करके दोनों दिनांक के बारे में जानते हैं

30 जनवरी को महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं ,और स्वतंत्रता नेताओं के लिए मनाया जाता है जिन्होंने देश की आजादी के लिए लंबी लड़ाई लड़ी और अपनी जान बलिदान कर दिए
शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है?

23 मार्च को शहीद दिवस हमारे 3 राष्ट्र के नेताओं के लिए मनाया जाता है भगत सिंह , शिवराम गुरुजी , सुखदेव थापर।
शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है?


एक-एक करके दोनों के बारे में हम विस्तार से जानते हैं।

30 जनवरी को शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है?
शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है?

राष्ट्रपिता गांधी जी की हत्या 30 जनवरी 1948  को उसी शाम प्रार्थना के दौरान नाथूराम गोडसे ने की थी। गांधीजी एक स्वतंत्र सेनानी दृढ़ संकल्प वाले एक सरल व्यक्ति और एक ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने भारत के स्वतंत्रता में बहुत सारे बलिदान दिए हैं।
शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है?


नाथूराम गोडसे गांधी जी को पकड़ कर अपने अपराध को सही ठहराने की कोशिश कर रहे थे और कह रहे थे कि वह देश के विभाजन और हजारों लोगों की हत्या के जिम्मेदार हैं,और उन्होंने आखिरी वक्त में महात्मा गांधी को ढोंगी कहा और किसी भी तरह अपने अपराध के लिए दोषी नहीं माने।और 8 नवंबर को गोडसे की मौत की सजा सुनाई गई इसलिए इस दिन यानी 30 जनवरी को बापू के अंतिम सांस ली और शहीद हो गए भारत सरकार ने इस दिन को शहीद दिवस के रूप में घोषित कर दिया।

23 मार्च को शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है?

मार्च को भारत के तीन नायक नेताओं को फांसी में लटका दिया गया था जो कि एक भगत सिंह शिवराम गुरुजी और सुखदेव थापर थे, कोई शक नहीं कि उन्होंने हमारे राष्ट्र के खातिर अपने जीवन के बलिदान कर दिए । उन सब की उम्र कम थी और वह सब एक ऐसे नेता बन गए थे जिससे कि अंग्रेजों को डर था कि उन्हें भारत कहीं छोड़ना ना पड़ जाए । वे तीनों भारत के बहादुर क्रांतिकारी थे और उन्होंने देश के लिए बहुत सारे योगदान दिए और अंतिम  में अपनी जान गवा बैठे।

भगत सिंह और उनके साथियों के बारे में कुछ जानकारी

शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है?

भगत सिंह का जन्म 28 सितंबर 1960 में पंजाब के लाइव पुर मेंहुआ में हुआ था । भगत सिंह ने अपने साथ ही राजगुरु सुखदेव आजाद और गोपाल के साथ मिलकर लाला लाजपत राय की हत्या के लिए लड़ाई लड़े और देश के लिए बहादुर नेता के रूप में बन गए।उन्होंने 8 अप्रैल 1929 को अपने साथियों के साथ इंकलाब जिंदाबाद के नारे को पढ़कर केंद्रीय विधानसभा पर बम फेंके और इनके लिए उनके खिलाफ हत्या का मुकदमा चलाया गया, और 23 मार्च 1931 को लाहौर जेल में फांसी दे दी गई।
शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है?


यही सब कारणों से 23 मार्च को शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है

पूरे देश में शहीद दिवस कैसे मनाते हैं


राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री 30 जनवरी को महात्मा गांधी समाधि राजघाट महात्मा गांधी की प्रतिमा पर फूलों की माला पहनाकर सम्मान देने के लिए एकत्र होते हैं शहीद के सामने सशस्त्र बल के जवानों और अंतर सेवा दुखियों द्वारा सामान्य जनक  सलामी  भी की जाती है
देशभर में राष्ट्रपति बापू और अन्य शहीदों की याद में 2 मिनट का मौन किया जाता है भारत में  इसी तरह शहीद दिवस मनाया जाता है।


मुझे उम्मीद है कि आपको मेरे यह लेख 
शहीद दिवस क्यों मनाते हैं ज्यादा से ज्यादा पसंद आया होगा और मेरी कोशिश रहेगी कि आप लोगों को ऐसी ऐसी जानकारी देते रहू। कमेंट करके बताएं लेख कैसा लगा।


Comments

  1. I am really happy to say it’s an interesting post to read Motivational Quotes in Hindi this is a really awesome and i hope in future you will share information like this with us

    ReplyDelete

Post a comment

<a

Popular posts from this blog

100% Fake DNS Code Recever Earning App

हेलो दोस्तों आज हम लोग देखेंगे एक ऐसे  App  के बारे में जो  YouTube  पर बहुत सारे  youtubers  इसका प्रमोशन कर रहे हैं, कि आप इस  App  को डाउनलोड करके हर रोज ₹2000 कमा सकते हैं । आज इस पोस्ट में हम देखेंगे कि क्या वास्तव में यह  App  आपको रोज का ₹2000 कमा कर दे सकता है या नहीं या फिर आपके साथ कोई  fraud  कर रहा है । DNS Code Recever Earning App क्या है? DNS Code Recever Earning App एक ऐसा  App  है जिसको  download  करके और कोई छोटा काम कर के हर रोज ₹2000 तक कमा सकते हैं जब आप इस  App  को डाउनलोड करते हैं और  Sign Up  करते हैं तो आपको एक  registration fee  देना होता है वह 80 से लेकर ₹100 तक हो सकता है App  में  registration  करने के बाद उसमें कई सारे  option  दिखाई देते हैं जिससे आप पैसे कमा सकते हैं क्या DNS Code Recever Earning App से सच में पैसे कमाए जा सकते हैं या फिर या फेक है दोस्तों मैं आपको यह बता दूं कि इस  App  को आप कतई  download  ना करें जी हां मैंने सही कहा यह  App  पूरी तरह  fraud app  है। जब आप इसमें  Sign Up  करते समय जो  registration fee  देते ह

How to add Sticky top to back button In blogger

Sticky top to back button क्या होता है किसी  website/blog के निचले हिस्से से ऊपरी हिस्से में instant जाने के लिए हम जिस button  का use करते हैं उसे Back to Top Button कहते है Back to Top Button दो type के होते हैं Sticky top to back button  Non sticky top to back button  आजकल  sticky top to back  का ज्यादा use हो रहा है इसलिए sticky top to back button  अपने blog/website मैं कैसे लगाया उसके बारे में सबसे आसान  तरीका बताऊंगा  इसमें आप लोगों   को template को Edit करने की जरूरत नहीं पड़ेगी  Sticky top to back button अपने blog/website में कैसे लगाएं सबसे पहले आप अपने blogger dashboard पर जाएं फिर  layout मैं  जाएं  layout  मैं जाने के मैं जाने के बाद add a widget  पर click करें  यहां पर आपको बहुत सारे widget  देखेंगे इनमें से पर Click करें पर click करने के बाद आपको एक box दिखेगी Box के name को खाली छोड़ दे और content में नीचे दिया हुआ code copy करके  यहां past कर दे [<style type="text/css">#bcd-052008-widget-sbs-jump-top-button-2393{    width: