Skip to main content

International Women's Day 2020: अंतर्राष्ट्रीय-महिला-दिवस-2020

Happy Women's Day Image
Women's Day 2020 Images
Love vector created by starline - www.freepik.com

महिला दिवस हर साल 8 मार्च को मनाया जाता है। जिसके माध्यम से महिलाओं के लिए सम्मान, प्रशंसा और प्यार का इजहार करते हुए विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। पहला महिला दिवस 1909 में न्यूयॉर्क में मनाया गया था। जिसके बाद इसे आधिकारिक रूप से वर्ष 1917 से घोषित किया गया और 8 मार्च को महिला दिवस के रूप में मनाया गया।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का उद्देश्य
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस महिलाओं की सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक उपलब्धियों का जश्न मनाने वाला एक वैश्विक दिवस है।

उन शुरुआती वर्षों के बाद से, अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस ने developed और developing देशों में महिलाओं के लिए एक नया वैश्विक आयाम ग्रहण किया है। बढ़ती अंतरराष्ट्रीय महिला आंदोलन, जिसे चार global United Nations women's conferences द्वारा मजबूत किया गया, इसने महिलाओं के अधिकारों राजनीतिक और आर्थिक रूप में  भागीदारी के लिए काम किया | 

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस कैसे मनाया जाता है

Indian Women's Day 2020: भारतीय महिला दिवस
भारत में भी महिलाओं के हक़ के लिए कई सारी कदम उठाया गया है इस के लिए महिला सशक्‍तीकरण नीति 2001 का निर्माण किया गया | आज हमारे देश की महिला हर क्षेत्र में मर्दो के साथ कन्धा मिला कर चल रही है | भारत में भी महिला दिवस बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है |   

महिलाएं जिनके जीवन से आप ले सकते हैं प्रेरणा
भारत में तो कई ऐसी महिला हुई जिन्होंने महिलाओं के उथान के लिए आगे आइ और अपने साहस एवं अपनी बुदि से समाज का कलियान किया उन्ही में से कुछ इस प्रकार है

Draupadi
women's  day 2020 Draupadi image
women's  day 2020 Draupadi image 
image source: isha sadhguru 

अग्नि से उत्पन्न द्रौपदी, महाभारत का प्रमुख कारण थी। द्रौपदी एकमात्र ऐसी महिला थीं, जिन्होंने 'अबला नारी' की छवि तोड़ी थी और अपने अधिकारों और सदाचार के लिए संघर्ष किया था।

Savitribai Phule
सावित्रीबाई फुले और उनके पति भारत में महिला शिक्षा के अग्रणी थे। इसके अलावा, वह दलित थीं, और दोगुना हाशिए पर थीं। उन्होंने ब्रिटिश शासन के दौरान भारत में महिलाओं के अधिकारों में सुधार और सामाजिक पूर्वाग्रहों को समाप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। वह भारत के इतिहास में अपने पति की चिता को रोशन करने वाली पहली महिला थीं। 10 मार्च, 1998 को सावित्रीबाई के योगदान का सम्मान करने के लिए भारतीय डाक द्वारा एक डाक टिकट जारी किया गया था। सावित्रीबाई उन सभी के लिए एक 'विद्या ज्योति' थीं, जो शिक्षा के क्षेत्र में कुछ करना चाहते हैं।

Rani Lakshmi Bai 
हिंदी की एक कविता सायद आप ने भी पढ़ी होगी, "खूब लाडी मर्दानी थी वो तो झांसी वाली रानी रानी थी" झांसी की इस बहादुर रानी का वर्णन करने के लिए सबसे उपयुक्त कविता यही है। रानी लक्ष्मी बाई ने अंग्रजो को देश से बाह निकालने के लिए संघर्ष किया| उन्होंने एक स्वयंसेवक सेना का गठन किया जिसमें न केवल पुरुष, बल्कि महिलाएं भी शामिल थीं। उनकी बहादुरी, साहस, बुद्धि, 19 वीं सदी के भारत में महिला सशक्तिकरण पर उनके प्रगतिशील विचारों और उनके बलिदानों ने उन्हें भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन का एक प्रतीक बना दिया। उनकी कहानी स्वतंत्रता सेनानियों की आने वाली पीढ़ियों के लिए एक प्राणा की श्रोत बन गई।

Kalpana Chawala 
कल्पना चावला एक भारतीय-अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री और अंतरिक्ष में पहली भारतीय महिला थीं। उन्होंने पहली बार मिशन विशेषज्ञ और प्राथमिक रोबोटिक आर्म ऑपरेटर के रूप में 1997 में स्पेस शटल कोलंबिया से उड़ान भरी थी। 2003 में, चावला अंतरिक्ष शटल कोलंबिया आपदा में मारे गए सात चालक दल के सदस्यों में से एक थी। कल्पना भारत और दुनिया भर में कई लोगों के लिए एक प्रेरणा है। उनकी मेहनत और उनके एकमात्र मकसद ने उसे जीवन में महान बना दिया। वह दूसरों से अलग थी, वह केवल एक अंतरिक्ष यात्री बनना चाहती थी। उनका परिवार उनके खिलाफ था, जब वह USA जाने वाली थी, लेकिन उनके अपने विचार और इरादे मजबूत थे। हमें कल्पना चावला से बहुत कुछ सीखना चाहिए है, जिन्होंने अपने लक्ष्य को आम लोगों की तरह नहीं बल्कि बहुत मेहनत और कष्ट से हासिल किया।

Sarojini Naidu
1879 में जन्मी, सरोजिनी नायडू, जिसका नाम 'द नाइटिंगेल ऑफ इंडिया' था, एक बच्चा था। वह अपनी पढ़ाई में हमेशा अव्वल रही और कई भाषाओं में पारंगत रही। वह 1905 के आसपास भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल हुईं और भारत के संघर्षों में सक्रिय भागीदार थीं। 1925 में, उन्हें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की पहली महिला अध्यक्ष के रूप में चुना गया और भारत की स्वतंत्रता के बाद वह उत्तर प्रदेश की राज्यपाल बनीं। उनके कई साहित्यिक कार्य जैसे द गोल्डन थ्रेशोल्ड, द बर्ड ऑफ़ टाइम, द ब्रोकन विंग को व्यापक रूप से और समीक्षकों द्वारा प्रशंसित पढ़ा गया है। 1949 में उनका निधन हो गया।

International Women's Day 2020 Theme : अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2020 थीम



Happy Women's Day Image
Happy Women's Day 2020 Image
Love vector created by starline - www.freepik.com

हर साल अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस एक नये थीम पर आयोजित किया जाता है. साल 1996 को पहली थीम "अतीत का जश्न और भविष्य के लिए योजना" रखी गई थी इस वर्ष 2020  का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का थीम है "मैं पीढ़ी समानता: महिलाओं के अधिकारों को महसूस कर रही हूं"
"I am Generation Equality: Realizing Women’s Rights”

Previous Years International Women's Day Theme : पिछले सभी अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का थीम

  • 1975 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को संयुक्त राष्ट्र ने मान्यता दी”।
  • 1996 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “भूतकाल का जश्नभविष्य की योजना”।
  • 1997 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “महिला और शांति की मेज”।
  • 1998 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “महिला और मानव अधिकार”।
  • 1999 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “महिलाओं के खिलाफ हिंसा मुक्त विश्व”।
  • 2000 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “शांति के लिये महिला संसक्ति”।
  • 2001 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “महिला और शांति: विरोध का प्रबंधन      करती महिला”।
  • 2002 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “आज की अफगानी महिला: वास्तविकता और मौके”।
  • 2003 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “लैंगिक समानता और शताब्दी विकास लक्ष्य”।
  • 2004 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “महिला और एचआईवी/एड्स”।
  • 2005 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था 2005 के बाद लैंगिक समानताएक ज्यादा सुरक्षित भविष्य का निर्माण कर रहा है”।
  • 2006 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “निर्णय निर्माण में महिला”।
  • 2007 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “लड़कियों और महिलाओं के खिलाफ हिंसा के लिये दंडाभाव का अंत ”
  • 2008 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “महिलाओं और लड़कियों में निवेश”।
  • 2009 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हिंसा को खत्म करने के लिये महिला और पुरुष का एकजुट होना”।
  • 2010 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “बराबर का अधिकारबराबर के मौके: सभी के लिये प्रगति”।
  • 2011 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “शिक्षाप्रशिक्षण और विज्ञान और तकनीक तक बराबरी की पहुँच: महिलाओं के लिये अच्छे काम के लिये रास्ता”।
  • 2012 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “ग्रामीण महिलाओं का सशक्तिकरणगरीबी और भूखमरी का अंत”।
  • 2013 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “वादावादा होता है: महिलाओं के खिलाफ हिंसा खत्म करने का अंत आ गया है”।
  • 2014 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “वादावादा होता है: महिलाओं के समानता सभी के लिये प्रगति है”।
  • 2015 का अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का थीम था “महिला सशक्तिकरण- सशक्तिकरण इंसानियत: इसकी तस्वीर बनाओ! (यूएन के द्वारा),महिला सशक्तिकरण पर पुनर्विचार और 2015 में लैंगिक समानता और उससे आगे” (यूनेस्को के द्वारा) और “तोड़ने के द्वारा” (मैनचेस्टर शहर परिषद के द्वार)।
  • 2016 के अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस उत्सव का विषय था "इसे करना ही होगा"।
  • वर्ष 2017 में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का लिए थीम था "परिवर्तन के लिए साहसिक" था।
  • वर्ष 2018 में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का लिए थीम था "समय अब है: ग्रामीण और शहरी कार्यकर्ता महिलाओं के जीवन में परिवर्तन" और "Press for Progress" था।
  • वर्ष 2019 में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का थीम था "बैलेंस फार बैटर (अच्छाई के लिए संतुलन)"। 




Comments

Popular posts from this blog

शहीद दिवस क्यों मनाया जाता है?(Why and when do celebrate Martyrs'Day?)

क्या आपको पता है,शहीद दिवस क्यों मनाते हैं? क्या आपने कभी सोचा इसके बारे में। अगर नहीं तो इस लेख को पूरा पढ़ें। हम लेख मे जानेंगे कि , शहीद दिवस क्यों और कब मनाया जाता है। चलिए तो अब हम शहीद दिवस के बारे में पूरी जानकारी आपको देते हैं।

शहीद दिवस को अंग्रेजी में  Martyrs' day बोला जाता है

शहीद दिवस हम अपने उन शहीदों को श्रद्धांजलि प्रदान करते हैं जो अपने देश के हिफाजत के लिए अपने जान गवा बैठे हैं, या वह अपने देश के लिए शहीद हो गए। शहीद दिवस के दिन शिक्षा केंद्र जैसे स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय में उस दिन राष्ट्रीय गान बजाया जाता है और 1-2 मिनट तक मौन धारण करके अपने शहीदों को याद करते हैं। देखा जाए तो हमारे शहीद हमारे देश के लिए जो कि वह बेहद काबिले तारीफ है क्योंकि उन्हीं के वजह से हम चैन की नींद सो पाते हैं। इसलिए हम सब भारतीयों के लिए शहीद दिवस बहुत ही महत्वपूर्ण दिन होता है ,और शहीद दिवस को हम सब भारतीय को शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करना चाहिए और उन शहीदों के कुछ गुण को भी अपने अंदर लाना चाहिए।

शहीद दिवस क्या है?(What is Martyrs' day?)
हर साल हम शहीद दिवस में अपने बहादुर …

100% Fake DNS Code Recever Earning App

हेलो दोस्तों आज हम लोग देखेंगे एक ऐसे App के बारे में जो YouTube पर बहुत सारे youtubers इसका प्रमोशन कर रहे हैं, कि आप इस App को डाउनलोड करके हर रोज ₹2000 कमा सकते हैं । आज इस पोस्ट में हम देखेंगे कि क्या वास्तव में यह App आपको रोज का ₹2000 कमा कर दे सकता है या नहीं या फिर आपके साथ कोई fraud कर रहा है ।
DNS Code Recever Earning App क्या है?
DNS Code Recever Earning App एक ऐसा App है जिसको download करके और कोई छोटा काम कर के हर रोज ₹2000 तक कमा सकते हैं जब आप इस App को डाउनलोड करते हैं और Sign Up करते हैं तो आपको एक registration fee देना होता है वह 80 से लेकर ₹100 तक हो सकता है
App में registration करने के बाद उसमें कई सारे option दिखाई देते हैं जिससे आप पैसे कमा सकते हैं


क्या DNS Code Recever Earning App से सच में पैसे कमाए जा सकते हैं या फिर या फेक है
दोस्तों मैं आपको यह बता दूं कि इस App को आप कतई download ना करें जी हां मैंने सही कहा यह App पूरी तरह fraud app है। जब आप इसमें Sign Up करते समय जो registration fee देते हैं वह आपको नहीं लौटाया जाता है और ना ही आप इस app के द्वारा कोई पैसे …

How to add Sticky top to back button In blogger

Sticky top to back button क्या होता है


किसी  website/blog के निचले हिस्से से ऊपरी हिस्से में instant जाने के लिए हम जिस button  का use करते हैं उसे Back to Top Button कहते है


Back to Top Button दो type के होते हैं

Sticky top to back button Non sticky top to back button 
आजकल  sticky top to back  का ज्यादा use हो रहा है इसलिए sticky top to back button  अपने blog/website मैं कैसे लगाया उसके बारे में सबसे आसान  तरीका बताऊंगा  इसमें आप लोगों   को template को Edit करने की जरूरत नहीं पड़ेगी


 Sticky top to back button अपने blog/website में कैसे लगाएं


सबसे पहले आप अपने blogger dashboard पर जाएंफिर  layout मैं  जाएं layout  मैं जाने के मैं जाने के बाद add a widget  पर click करें यहां पर आपको बहुत सारे widget  देखेंगे इनमें से पर Click करेंपर click करने के बाद आपको एक box दिखेगी Box के name को खाली छोड़ दे और content में नीचे दिया हुआ code copy करके  यहां past कर दे [<style type="text/css">#bcd-052008-widget-sbs-jump-top-button-2393{    width: /*width-s*/40px;/*width-e*/    heigh…